वायुमंडल की उत्पत्ति और विकास

वायुमंडल के विकास की तीन अवस्थाएं हैं – 1 ).  आदिकालीन वायुमंडलीय गैसों का ह्रास – प्रारम्भिक वायुमंडल जिसमे हाईड्रोजन (H2) व हीलियम (H) की अधिकता थी वह सूर्य के…

Continue Reading वायुमंडल की उत्पत्ति और विकास

महाद्वीपीय विस्थापन का सिद्धांत

महाद्वीपीय विस्थापन सिद्धांत अल्फ्रेड वैगनर ने 1912 में प्रस्तावित किया। यह सिद्धांत पृथ्वी विभिन्न के महाद्वीपों के एक-दूसरे के सापेक्ष गति से संबंधित है। बैगनर ने अपने सिद्धांत को निम्न…

Continue Reading महाद्वीपीय विस्थापन का सिद्धांत

Monsoon

मानसूनमानसून मूलतः बंगाल की खाड़ी, अरब सागर एवं हिन्द महासागर की ओर से भारत के दक्षिण-पश्चिमी तट पर आने वाली हवाओं को कहते हैं, जो दक्षिणी एशिया मुख्यतः भारत, पाकिस्तान,…

Continue Reading Monsoon

सागर नितल प्रसरण सिद्धांत

इस सिद्धांत का प्रतिपादन 1961 – 62 में हेरी हेन्स ने किया था| हेरी हेन्स ने अपने विश्लेषण में पाया की मध्य महासागरीय कतकों के साथ-साथ ज्वालामुखी उद्गार क्रिया सामान्य…

Continue Reading सागर नितल प्रसरण सिद्धांत

ग्रहों का विकास

तारे निहारिका  अंदर गैस के गुथित झुण्ड हैं| इन गुथित झुंडो में गुरुत्वाकर्षण से गैसीय बादलों के भीतर कोर का निर्माण हुआ और इस गैसीय  बादल के भीतर चतुर्दिक गैस…

Continue Reading ग्रहों का विकास

Development of lithosphere

Development of lithosphere (स्थलमंडल का विकास) प्रारम्भिक अवस्था में पृथ्वी अत्यंत तप्त तथा अस्थिर अवस्था में थी| परतु धीरे -धीरे पृथ्वी के ठंडे होने के क्रम में उसका सकुचन होता…

Continue Reading Development of lithosphere

भूसंचलन

आंतरिक (अंतर्जात बल) पृथ्वी के आंतरिक भाग से निकलने वाली ऊर्जा भू आकृतिक प्रक्रियाओं के लिए मूल स्रोत होती है| ये ऊर्जा रेडिओधर्मी क्रियाओं घूर्णन तथा अवशिष्ट  ऊर्जा के द्वारा…

Continue Reading भूसंचलन

Internal structure of the earth

पृथ्वी की आतंरिक संरचना का अनुमान निम्न दो तरीको से लगाया जा सकता है – Internal structure of the earthप्रत्यक्ष स्रोत – ज्वालामुखी उदभेदन व खनन क्रियाओं द्वारा प्राप्त पदार्थो…

Continue Reading Internal structure of the earth

अक्षांश एवं देशांतर रेखाएं

अक्षांश रेखाएँ अक्षांश रेखाएँ भूमध्यरेखा के सामानांतर ग्लोब पर पूरब से पश्चिम की तरफ खीची जाने वाली काल्पनिक रेखाएँ है. 1° के अंतराल पर कल्पित किये जाने पर अक्षांश रेखाओं…

Continue Reading अक्षांश एवं देशांतर रेखाएं

Distribution of earthquakes

भूकम्पों का वितरणभूकम्पों का वितरण ज्वालामुखी से मिलता-जुलता है, भूकंप विश्व के कमजोर भागो में ज्यादा आते है| इस प्रकार भूकम्पों का वितरण इस प्रकार देखा जा सकता है- प्रशांत…

Continue Reading Distribution of earthquakes