पाठ-7 अशोक: एक अनोखा सम्राट जिसने युद्ध का त्याग किया

मौर्य साम्राज्य

  • मौर्य वंश के तीन महत्वपूर्ण राजा हुआ करते थे।
  • अशोक बिन्दुसार के पुत्र थे।
  • साम्राज्य की राजधानी पाटलिपुत्र हुआ करते थी।
  • तक्षशिला उत्तर पश्चिम और मध्य एशिया के लिए जाने का मार्ग था।

अशोक एक अनोखा सम्राट

  • अशोक मौर्य वंश के सबसे प्रसिद्ध शासक थे।
  • अशोक के ज्यादातर अभिलेख प्राकृत भाषा और ब्राम्ही लिपि में है।

अशोक का कलिंग युद्ध

  • कलिंग तटवर्ती उडीया का प्राचीन नाम है।
  • राजा बनने के करीब 8 वर्ष बाद अशोक ने कलिंग युद्ध को लड़ा।
  • युद्ध के कारण हुए खून खराबा देखकर उन्हें युद्ध से घृणा हो गए।
  • उन्होंने यह निर्णय किया को वह अब्ब कभी भी युद्ध नहीं करेंगे।

अशोक का धम्म

  • धम्म सभी धर्मो का मिला जुला रूप था जिसमे किसी देवता की पूजा, धार्मिक रीती-रिवाज या किसी कर्मकाण्ड की आक्सीकता नहीं थी।
  • वह बुद्ध के उपदेशो से भी प्रभावित हुए थे।
  • अशोक ने अपने सन्देश कई स्थानों पर शिलाओं और स्तम्भों पर खुदवा दिए।
  • सड़के, विश्राम घर बनवाए व कुछ कुए भी खुदवाए।
  • मनुष्यों व जानवरो के चिकित्सा हेतु भी व्यवस्था की गए थी।

आओ याद करे

प्रश्‍न :- उन समस्याओ की सूचि बनाओ जिनका समाधान अशोक धम्म द्वारा करना चाहते थे।
उत्तर
:- धम्म द्वारा दूर की जाने वाली समस्याएँ :

  • अलग-अलग धर्म को मानने वाले लोगों के बिच आपसी टकियाव।
  • दासो और नौकरो के साथ बुरा बर्ताव।
  • परिवार और पड़ोसियों में तकियार।
  • बेज़ुबान जानवरो की बलि।

प्रश्‍न:- धम्म के प्रचार के लिए अशोक ने किन साधनो का प्रयोग किया?
उत्तर
:- अशोक के धम्म प्रचार के साधन:

  • अन्य देशो में धम्म प्रचारक और प्रतिनिधियो को भेजा गया।
  • धम्म महात्मा की नियुक्ति की।
  • कई स्थानों पर शिलाओं पर खुदवाए गए।
  • संदेशो को पढ़कर भी सुनाया जाता था।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.