माँग और पूर्ति का नियम

सामान्यतः किसी वस्तु की कीमत का निर्धारण उसकी मांग तथा पूर्ति के आधार पर होती है. यदि किसी वस्तु की माँग बहुत अधिक बढ़ जाये और बाजार में उसकी पूर्ति स्थिर हो या उस अनुपात में नहीं बढ़ पाए जिस दर से उसकी मांग बढ़ रही है, स्थिति वस्तु की कीमत बढ़ जाएगी. यही बात पूर्ति के संबंध में भी लागु होती है. जैसे ईद और होली के अवसर पर खोये की मांग बढ़ जाती है अगर उसकी पूर्ति नहीं बढ़ पाती है तो उसकी कीमत में बढ़ोतरी हो जाती है.

Leave a Reply