मांग का नियम

प्रत्येक उपभोक्ता किसी भी वस्तु की कीमत उसकी उपयोगिता के आधार पर देता है, और किसी भी वस्तु लिए वह उसकी उपयोगिता से अधिक कीमत / धन नहीं देगा, और उपभोग में वृद्धि के साथ उपयोगिता घटेगी इसलिए कोई भी व्यक्ति किसी वस्तु का उपभोग या मांग तभी करेगा जब उसका मूल्य गिरेगा.

इस प्रकार हम कह सकते है कि, जैसे-जैसे किसी वस्तु कि कीमत गिरती है वैसे-वैसे उसकी माँग बढ़ जाती है यदि आय, रूचि तथा अन्य वस्तुओं के मूल्य स्थिर रहे. इसे अर्थशास्त्र में मांग का नियम कहते है. इसका प्रतिपादन प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अल्फ्रेड मार्शल ने किया.

Leave a Reply